एकार्थी प्रतीत होने वाले भिन्नार्थक शब्द | bhinnarthak shabd in hindi

हिंदी व्याकरण में कभी-कभी कुछ भिन्नार्थक शब्दों को प्रयोग एक ही स्थान पर कर दिया जाता है, जो वास्तव में अशुद्ध है। उन शब्दों को जानना बहुत जरुरी है। आज इस पोस्ट में उन्ही भिन्नार्थक शब्दों , जो कि एकार्थी प्रतीत होते है। उन शब्दों की जानकारी देंगे। भिन्नार्थक शब्द का मतलब/अर्थ है , एक -दूसरे से भिन्न अर्थ वाले शब्द। 


भिन्नार्थक शब्द, एकार्थी प्रतीत होने वाले भिन्नार्थक शब्द, bhinnarthak shabd in hindi , bhinnarthak shabd class 9, samocharit bhinnarthak shabd , एकार्थी प्रतीत होने वाले भिन्नार्थक शब्द | bhinnarthak shabd in hindi
एकार्थी प्रतीत होने वाले भिन्नार्थक शब्द | bhinnarthak shabd in hindi 


एकार्थी प्रतीत होने वाले भिन्नार्थक शब्द 


  1.  अति - बहुत अधिक  ,   अधिक - ज्यादा/तुलना में 
  2.  अभिमान - स्वाभाविक गर्व ,    अहंकार - झूठा घमण्ड 
  3. अमूल्य - जिसका मूल्य न आँका जाय ,   बहुमूल्य - बहुत कीमती 
  4. अनिवार्य - जिसका बिना काम न चले ,    आवश्यक - जरुरी 
  5. अभिवादन - प्रणाम ,   अभिनन्दन - स्वागत 
  6. अनुसन्धान - रहस्य का पता लगाना ,   अन्वेषण - अज्ञात स्थान की खोज ,   आविष्कार - नई वस्तु की खोज 
  7. अर्चना - बाह्य सत्कार/नैवेद्य,     पूजा  - मानसिक/बाह्य दोनों 
  8. अवस्था - जीवन का एक भाग ,   आयु - सम्पूर्ण जीवन 
  9. अनुरोध - विनयपूर्वक हठ ,     आग्रह - हठ 
  10. अशुद्धि - लिखने व बोलने में गलती ,   भूल - सब प्रकार की गलती 
  11. त्रुटि - भूल की अपेक्षा गहरा भाव ,   दोष - त्रुटि से भी गहरा 
  12. अवसान - कुछ समय के लिए समाप्त ,   अंत - सदा के लिए समाप्त  
  13. अभिभाषण - लिखित भाषण   ,     व्याख्यान - मौखिक भाषण 
  14. अध्ययन - सामान्य पढ़ना ,   अनुशीलन - सूक्ष्म एवं गहन चिंतन 
  15. अनुरोध - नम्रतापूर्वक याचना ,  आग्रह - अधिकार की भावनायुक्त मांगना 
  16. अनुभव - कर्मेन्द्रियों से प्राप्त बाह्यज्ञान , अनुभूति - ज्ञानेन्द्रियों से प्राप्त आन्तरिक ज्ञान 
  17. अपवाद - बिना प्रणाम के दोषारोपण , निंदा - तथ्यों पर दोषारोपण 
  18. आवेदन - नौकरी हेतु पत्र , निवेदन - विनयपूर्वक कथन 
  19. आकार - बनावट/डीलडौल , रूप - आकृति/शक्ल 
  20. आचार - वैयक्तिक आचरण , व्यवहार - सामाजिक आचरण 
  21. उदाहरण - नमूना प्रस्तुत करना ,  दृष्टान्त - प्रमाण देना 
  22. उन्नति - ऊपर उठते हुए विकास ,  प्रगति - साधारण विकास 
  23. उपहार - अन्य को दी जाने वाली भेंट ,  भेंट - बड़ों को दी जाने वाली 
  24. कर्त्तव्य - नैतिक बन्धनयुक्त कार्य ,  कार्य - सामान्य काम 
  25. काल - समय की सत्ता ,  युग - समय की सीमा 
  26. कारण - कार्य सम्पन्न करने का साधन ,  हेतु - उद्देश्य 
  27. ग्लानि - स्वयं के प्रति अरुचि ,  घृणा - दुसरो  अरुचि 
  28. चमत्कार - आश्चर्य जनक वस्तु ,  आश्चर्य - अप्रत्याशित घटना/दृश्य पर उत्पन्न भाव 
  29. चिह्न - निशान ,   लक्षण - विशेषताएँ 
  30. टीका - मूल पुस्तक का सामान्य अर्थ प्रकट करना , भाष्य - ग्रन्थ की विवेचनात्मक व्याख्या 
  31. तन्द्रा - ऊँघना /झपकी लेना  ,   निद्रा - गहरी नींद 
  32. धारणा - विश्वास   ,   विचार - मन्तव्य 
  33. निर्णय - फैसला , न्याय - सत्य,असत्य प्रकट करना 
  34. निरीक्षक - किसी व्यवस्था की देख रेख करने वाला ,  परीक्षक - किसी की योग्यता की जाँच करने वाला 
  35. परामर्श - सामान्य सलाह/विचार विनिमय , मंत्रणा - गुप्तरूप से विचार विनिमय 
  36. पारितोषिक - प्रतियोगिता में विजयी होने पर दिया जाता है ,   पुरस्कार - अच्छे कार्य व सेवा पर दी जाने वाली भेंट 
  37. प्रयत्न - कार्य करने का हल्का भाव ,  प्रयास - अत्यधिक प्रयत्न 
  38. प्रेम - सामान्य अनुराग , स्नेह - छोटो के प्रति लगाव का भाव 
  39. योग्यता - गुणयुक्त विशेषता ,  क्षमता - शारीरिक शक्ति 
  40. लालसा - अप्राप्य के प्राप्ति की इच्छा ,   लोभ - आवश्यकता से अधिक पाने की इच्छा 
  41. वीरता - प्राकृतिक शक्ति  , साहस - भय रहित शक्ति 
  42. वात्सल्य - माता पिता का संतान के प्रति प्रेम ,    स्नेह -छोटो के प्रति प्रेम/प्यार 
  43. सभ्यता - भौतिक उन्नति  ,  संस्कृति - आध्यात्मिक उन्नति 
  44. सन्देश - व्यक्तिगत सूचना ,  सूचना - विशेष घटना का समाचार 
  45. सम्पत्ति - धन ,   वैभव - ऐश्वर्य 
  46. स्त्री - सामान्य नारी ,   पत्नी - एक व्यक्ति के साथ विवाह करने पर वह उसकी पत्नी कहलाएगी ,  महिला - कुलीन परिवार की स्त्री 
  47. स्तुति - यश का बरवान , प्रशंसा - बड़ाई 
  48. हत्या - प्राण लेना  ,  बलिदान - देश व धर्म के लिए प्राण देना।